अखिलेश के पास वो विशेष गंगाजल नही जिससे अपराधियों को पवित्र किया जा सके-अमर सिंह
Updated Date:15 Jul 2016 | Publish Date: 15 Jul 2016
अखिलेश के पास वो विशेष गंगाजल नहीं जिससे अपराधियों को पवित्र किया जा सके-अमर सिंह

कानपुर में सपा के राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने समाजवादी पार्टी  मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के लिए कहा कि उनके पास कोई विशेष गंगाजल नहीं जिससे अपराधी सात्विक हो जाए ऐसा गंगाजल तो केवल अमित शाह और मोदी के पास है। कॉंग्रेस की सीएम कैंडीडेट शीला दीक्षित और प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर के लिए बोले की अब कॉंग्रेस की नैया ये पार लगा पाएंगे या नहीं ये तो भगवान् ही बताएंगे। 
शीला दीक्षित को उत्तर प्रदेश में कॉंग्रेस द्वारा सीएम कैंडीडेट और राज बब्बर को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर क्या कॉंग्रेस की नैया पार लगेगी के सवाल पर बोले की लोकशाही में सभी को अधिकार है कि वो अपनी पसंद के लोगो को उतारे और जनता का काम है कि वो उसे पसंद करे या नापसंद करे। मैं तो न भगवान् हूँ जो प्रारब्ध लिखता हूँ और न ही ज्योतिष हूँ जो मंगल, राहू की गणना कर सकूँ । कॉंग्रेस की नैया पार होगी या नहीं ये या तो भगवान् बताएंगे या ज्योतिष बताएंगे । 
उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा के सम्भावित सीएम कैंडीडेट योगी आदित्य नाथ बनाए जाने पर प्रश्न पूंछने पर अमर सिंह बोले कि शत्रु होने के नाते वो हमारे पीठाधीश्वर है और राजनैतिक वैचारिक रूप से वो हमारे विरोधी है। जिस प्रकार महाभारत की लड़ाई में अर्जुन ने बड़ो को प्रणाम करके युद्ध शुरू किया था उसी प्रकार आदित्यनाथ जी को प्रणाम करते हुए पार्टी जो आदेश देगी हम भी युद्ध के मैदान में उतरेंगे । अमर सिंह ने आदित्यनाथ पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वो यशस्वी तो हो लेकिन विजयी न हो। 

वही बीजेपी द्वारा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आवास के घेराव पर अमर सिंह ने कहा की उनको  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का घेराव करना चाहिए क्योकि वहां पर जात आरक्षण आंदोलन में माँ बहनो को खींचकर उनके साथ बलात्कार किया गया था। उनको उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर उंगली उठाने से पहले व्यापम के खूनी घोटाले पर भी सोंच कर उनका भी घेराव करे। छत्तीसगढ़ में नक्सली राज के खात्मे के लिए वहां क्यों नहीं घेराव करते। उत्तर प्रदेश में डाकू मान सिंह के लड़के तहसीलदार सिंह को इटावा में बीजेपी ने चुनाव में उतारा, आजमगढ़ में नेता जी के विरोध में रमाकान्त यादव को टिकट दिया और संभल में तो हद कर दी , डीपी यादव जो कि उम्र कैद की सज़ा काट रहे है उनकी फोटो अटल जी के साथ दिखाकर भय मुक्त समाज का नारा देकर टिकट दिया। समाजवादी पार्टी के पास और अखिलेश यादव के पास ऐसा कोई विशेष गंगाजल नहीं है जिसे छिड़कने से सारे अपराधी सात्विक हो जाते है ऐसा गंगाजल केवल अमित शाह के पास और मोदी के पास है और भाजपा के पास है ।  

वही कश्मीर में हो रही हिंसा के बाद कश्मीरी पंडितों के पलायन पर अमर सिंह बोले कि जैसे कैराना में हिन्दू पलायन कर रहा है इसके लिए मुलायम सिंह से मिलूंगा और दिल्ली में कश्मीर से आए कश्मीरी पंडितो के शिविर में जाने की बात कहूंगा क्योकि कश्मीर में भाजपा की सरकार है और उनका चुनावी मुद्दा था कि सरकार बनने के बाद कश्मीरी पंडितो को वापस लाएंगे। कश्मीर में भाजपा की महबूबा का राज है और उनके सिद्धांतो की मुफ्ती हो रही है। बीजेपी की महबूबा कश्मीरी पण्डितो का कुछ नहीं कर पा रही पर चिन्ता कैराना की है। 
वही पत्रकारों ने जब अमर सिंह से सवाल पूंछा कि आप पिछले कई सालो से सपा को गाली बकते आए है, मुलायम सिंह को कोसते आए है फिर भी सपा में वापसी हुई कैसे? इस पर अमर सिंह बोले कि आपके मुँह में घी शक्कर, आडवाणी भी बीच बीच में बोलते रहते है, कानपुर के सांसद मुरली मनोहर जोशी भी अक्सर अपनी मुरली बजाते रहते है।जब बड़ा परिवार होता है तो कई बर्तन होते है वो खनकते है। मैंने मुलायम सिंह को कोसा नहीं है मैंने चीखा है।