कानपुर-पुलिस कस्टडी में लॉकप में दलित युवक की मौत,दूसरा दलित युवक लापता,हाइवे जामकर पथराव,पुलिस पर हत्या का मुकदमा दर्ज
Updated Date:05 Aug 2016 | Publish Date: 05 Aug 2016
पुलिस हिरासत में चौकी के अंदर दलित युवक कि मौत,1 युवक लापता, गुस्साई भीड़ ने थाने मे किया पथराव --14 पुलिस वाले सस्पेंड।

 कानपुर के चकेरी इलाके की अहिरवां चौकी में उस समय हड़कंप मच गया जब पुलिस चौकी में युवक की मौत हो गयी। परिजनों को जब जानकारी मिली तो परिजन चौकी पहुंचे। भीड़ पुलिस के खिलाफ नारे बाज़ी करने लगी और नेशनल हाइवे पर जाम लगा दिया । साथ ही जब राजू के परिजन पोस्ट मार्टम पहुंचे जंहा राजू के परिजनों ने शव की शिनाख्त की और शव पहचानने से इंकार कर दिया जिसके बाद मामले में नया मोड़ आ गया । इस पर जब कमल के परिजनों को पता चला की कमल की चौकी में मौत  हुई है तो कमाल के परिजन चकेरी थाने पहुंचे और थाने का घेराव कर दिया । इतना ही नहीं भीड़ ने फिर से कानपूर लखनऊ मार्ग पर जाम लगा दिया । जब पुलिस ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर दिया जवाब में पुलिस ने भी भीड़ पर पत्थर चलाये और लाठीचार्ज कर दिया ।  

कानपुर में चकेरी थाने के श्यामनगर इलाके में रहने वाले 26 वर्षीया युवक कमल वाल्मीकि को बीती 2 अगस्त को पुलिस पूछ ताछ के लिए चौकी लाई थी साथ ही कल पटेलनगर इलाके से राजू ( 40 ) को भी पुलिस उठा लाई थी। इस इलाके में 15 दिन पहले एक व्यापारी से बीस लाख रूपए की लूट हुई थी इस लूट का खुलासा करने के लिए पुलिस कमल बाल्मीकि को कई दिनों से चौकी में रखकर पूछताछ कर रही थी कमल बाल्मिक अपने आप को इस लूट कांड में शामिल होने की बात मना कर रहा था चौकी के अन्दर कमल बाल्मीकि की फाँसी लगा कर मौत हो गयी।जैसे ही इलाके के लोगो को पता चला की अहिरवा चौकी में एक युवक ने फांसी लगा ली तो राजू के परिजन चौकी पंहुचे।परिजनों को पुलिस शव की शिनाख्त करने के लिए पोस्टमार्टम हॉउस लेकर गए। इस बीच राजू के इलाके के लोगो ने कानपुर इलाहबाद हाईवे पर जाम लगा कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। लोगो ने चौकी घेर ली काफी संख्या में पुलिस बल चौकी पर लगा दिया गया है । जब राजू की पत्नी ने पोस्टमार्टम में शव को देख कर उसकी पहचान राजू के रूप में नहीं की। तो मामले में नया मोड़ आ गया । अब जब कमल बाल्मीकि के परिजनों को सूचना मिली तो परिजन भीड़ के साथ चकेरी थाने पहुंचे और पुलिस पर कमल की हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे । इसी बीच लोगो ने कानपुर लखनऊ हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस ने जब जाम खुलवाने का प्रयास किया तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया जवाब में पुलिस ने भी भीड़ पर पत्थर चलाये और लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ दिया। वंही पूरे दिन पुलिस ने मीडिया से कुछ भी नहीं बताया। देर शाम एसएसपी कानपुर शलभ माथुर बताया की चौकी में युवक कमल की मौत हुई है मौत का कारण पोस्टमार्टम के बाद पता चलेगा । फ़िलहाल परिजनों की तहरीर पर हत्या और एससीएसटी एक्ट के तहत आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और अहिरवा चौकी के दो सबइंस्पेक्टर और 12 सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है । जाँच कर कार्यवाही की जा रही है ।  

वंही डी आई जी नीलाब्जा चौधरी ने बताया की आज सुबह कमल बाल्मीकी नामक  एक  व्यक्ति अहिरवा चौकी परिसर में मृत पाया गया है फांसी लगा कर उसकी मृत्यु हुई है प्रथम दृष्टिया दोसी मानते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा पुलिस चौकी प्रभारी समेत पूरी चौकी को सस्पेंड कर दिया गया है 302  का मुकदमा पंजीकृत कर दिया गया है म्रतक का पोस्टमार्टम एक्सपर्ट पैनल और वीडियो ग्राफिक के अंतर्गत कराई जा रही है दूसरा जो मामला प्रकाश में आया है राजू मिस्त्री नामक एक व्यक्ति के बारे में उनके परिवारजनों ने जो आरोप लगाया है उनको चौकी में लाया गया था वर्तमान समय में वो कहा है ये उनको ज्ञात नहीं है उनके अंदेशा और उनकी तहरीर के आधार पर हम लोग ने उस मामले में अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया है उन्ही पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ और जैसे जो भी सबूत और जाँच बात सामने आयेगी विवेचना में कार्यवाही की जायेगी और सख्त से सख्त कारवाही की जायेगी।