KANPUR-एसएसपी आकाश कुलहरि ने संभाला कार्यभार।
Updated Date:20 Oct 2016 | Publish Date: 20 Oct 2016
KANPUR-एसएसपी आकाश कुलहरि ने संभाला कार्यभार।

♐बदहाल ट्राफिक व्यवस्था सुधारना होगी प्राथमिकता।
♐एफआईआर नही दर्ज करने वाले थानेदारों पर होगी कार्यवाही।
♐भू-माफियाओं पर कसी जायेगी नकेल, जमीनों पर किसी भी सूरत पर नही होगे कब्जें,कब्जा कराने वाले थानेदार होंगे सस्पेंड।
♐फाइलों में बंद घटनाओं को किया जाएगा खुलासा।
♐चेन स्नेचिंग की वारदात पर लगेगा अंकुश।

*अभय त्रिपाठी✍सम्पादक*

कानपुर-एसएसपी आकाश कुलहरि ने आज कार्यभार ग्रहण करने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में अपनी प्राथमिकताएं साझा कीं। राजस्थान, बीकानेर के मूल निवासी एसएसपी 2006 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से ऍमए आर्ट की पढ़ाई करने वाले एसएसपी कानपुर आने से पहले करीब डेढ़ साल तक वह एसएसपी वाराणसी रहे है अभी 3 दिन पहले ही उनका तबादला लखनऊ ट्रैफिक मुख्यालय में हुआ था जिसे संशोधित करते हुए कानपुर नगर का एसएसपी बनाया गया है इसके पूर्व भी वह कानपुर में जनवरी 2008 से सितंबर 2008 तक बतौर एएसपी(अंडर ट्रेनी)रह चुके है।

आईपीएस आकाश कुलहरि ने शहर के कप्तान का चार्ज संभालते ही तेवर दिखाने शुरु कर दिये है।एसएसपी का कहना है कि वह यहां की भौगोलिकता से पूरी तरह वाकिफ है। अपराध बाहुल्य थाना क्षेत्रों की समय समय पर मानिटरिंग की जायेगी। उन्होने यह पूरी तरह साफ कर दिया है कि एफआईआर नही लिखने वाले थानेदारो को बक्शा नही जायेगा उनपर कार्यवाही की जायेगी ऐसे थानेदारो को दोबारा थाने का चार्ज नही दिया जाएगा। 
पुलिस लाइन पहुंचते ही एसएसपी आकाश कुलहरि ने उन घटनाओं के बारें में जानकारी ली,जो हाल में ही हुयी थी। उनका कहना था कि प्राथमिकता के तौर पर शहर की बिगड़ी कानून व्यवस्था के साथ ही ट्राफिक को सुधारना होगा। उन्होने कैंट में हुयी न्यायिक महिला अधिकारी की हत्या के साथ ही नौबस्ता थाना के तहत पकड़े गये हुक्का बार में पुलिस की भूमिका किस तरह रही इसके बारें में पूरी जानकारी हासिल करने के साथ ही कहा कि इन दोनो मामलों में पुलिस की भूमिका गलत पायी जाती है,तो उन पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। 
एसएसपी आकाश कुलहरि ने यह भी पूरी तरह साफ कर दिया है कि थाने जाने वाले हर पीड़ित को पूरी तरह न्याय मिलेगा। साथ ही अगर इस बात की शिकायत आती है कि थानेदार किसी की भी एफआईआर नही लिख रहा है,तो उसके खिलाफ कार्यवाही करते हुए चार्ज से हटा दिया जाएगा।  

इसी के साथ ही जब उनसे यह बताया गया कि शहर में थानेदारों के साथ मिलकर सत्ताधारी के लोग जमीनों पर कब्जा करते है। जिस शख्स की जमीन पर कब्जा किया जाता उसके साथ किसी भी स्तर पर न्याय नही होता है। इस सवाल के जवाब में उनका कहना था कि अब किसी भी हाल में जमीनों पर कब्जें नही होगे। चाहे वह सत्ता का ही शख्स ही क्यो नही हो और जमीन कब्जा कराने वाले  पुलिसकर्मी सीधे सस्पेंड किये जाएँगे।

वही एसएसपी ने बताया कि शहर में हाल ही बढ़ी चैन स्नैचिंग की घटनाओं को रोकने के लिए, चैन स्नेचरों का 5 साल का रिकार्ड निकला जाएगा, चोरी की वारदातों को रोकने के लिए प्राइवेट चौकीदारों का वेरिफिकेशन कराया जायेगा और उनका डेटा बेस तैयार किया जायेगा,अपराधो पर लगाम लगाने के लिए सीसीटीवी कैमरों का भी प्रयोग किया जायेगा।

वही बनारस के बाद कानपुर मे जय बाबा गुरुदेव समागम के सवाल पर एसएसपी ने कहा की कानपुर में प्रस्तावित जय गुरुदेव संगत के समागम को अनुमति देने से पहले उसमे शामिल होने वाले लोगों की सही संख्या मांगी गयी है संख्या के आकलन के बाद जांच की जाएगी और कानून के हिसाब से अनुमति के बारे विचार किया जायेगा।

डीजीपी द्वारा शुरू की गयी ट्विटर पर कॉम्प्लेंस के मामलो में शहर पुलिस द्वारा शिथिलता के सवाल पर एसएसपी ने कहा कि आने वाली शिकायतो को संज्ञान में लेकर कार्यवाही की जायेगी जिसकी जानकारी पीड़ित को भी दी जाएंगी।

काम आएगा लम्बा एक्सपिरियंस।

कानपुर से शुरू हुई ट्रेनिग के बाद आकाश कुलहरि को पहला चार्ज इलाहाबाद में सर्किल अफसर के रूप में मिला था,इसके बाद वे एसपी सिटी मुज्जफर नगर, एसपी ललितपुर, एसपी बलरामपुर और एसपी जौनपुर के साथ एसएसपी आजमगढ़ एसएसपी बरेली रहे,इसके बाद आगरा के 15वीं वाहिनी पीएससी के सेनानायक के रूप में तैनाती हुई थी.उसके बाद एसएसपी गोरखपुर, एसएसपी आजमगढ़, एसएसपी  बनारस रहे।

पूर्वांचल में भी कर चुके है काम

एसएसपी आकाश कुलहरि का पूर्वांचल में काम का अनुभव अच्छा खासा है. जौनपुर और आजमगढ़ की कमान संभाल चुके आईपीएस कुलहरि ने वहाँ आर्गनाइज क्राइम को निशाने पर लेकर अच्छा काम किया था, पूर्वांचल में तैनाती के समय वहाँ के माफियाओं में खलबली मचा के रख दिया था।