होम > टॉप खबरें > आपकी ख़बर

#CM योगी की भी नहीं सुनती है कानपुर पुलिस
Updated Date:18 Oct 2017 | Publish Date: 18 Oct 2017
*UPTVLIVE BREAKING*

*#CM योगी की भी नहीं सुनती है "कानपुर पुलिस"* 

*✍🏼ABHAY TRIPATHI EDITOR*

कानपुर-यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चाहे जितनी कोशिश कर लें, उनकी पुलिस सुधरने का नाम नहीं ले रही है।
*दबंग किसी का घर उजाड़ देते हैं और वह इसकी गुहार से मुख्यमंत्री से लगाने जाते है उसके बाद भी नही मिल रहा इंसाफ़।*

दबंगों के हौसले इतने बुलन्द है कि वो अपने आधा दर्जन गुर्गों के साथ पीड़िता के घर मे घुस कर पीट-पीट कर मरणासन्न कर देते है घर सामान तहस-नहस करके सड़क पर फेंक देते है, पीड़िता थाने से लेकर कप्तान और मुख्यमंत्री तक से इंसाफ की गुहार लगा आयी, *लेकिन साहब ये कानपुर पुलिस है ये तो #cm योगी आदित्यनाथ की भी नहीं सुनती तो फिर आप आदमी की इसके सामने क्या हैसियत है।* यहाँ रसूखदारों के एक इशारे पर तत्काल मुकदमा दर्ज हो जाता है और फिर पीड़ित इंसाफ की आस में चाहे जितने बड़े अधिकारियों के चौखट पर जाए, वहाँ उसे जाँच के आश्वासन के अलावा कुछ नही मिलता,जाँच के बाद जाँच उसके बाद न्यायालय की परिक्रमा, वही आम पीड़िता मुख्यमंत्री से मिलकर भी गुहार लगा आयी फिर भी पुलिस ने उसको कानून का ऐसा पाठ पढ़ा रही है कि जिसे वह जीवन भर भूल नहीं पायेगी,मात्र आरोपियों पर शांतिभंग की कार्यवाही करके खानापूर्ति कर दिया।

*ये मामला है कानपुर के विजय नगर इलाके का जहाँ दबंगों ने वृद्ध महिला को पीटकर पूरे परिवार समेत कालोनी से निकाल दिया और उसका सारा सामान सड़क पर फेंक दिया।रविवार तड़के हुई इस घटना के बाद महिला ने काकादेव थाना,सीओ स्वरूप नगर से लेकर डीआईजी सोनिया सिंह तक से शिकायत की लेकिन सुनवाई नही हो सकी।*

विजय नगर कॉलोनी निवासी रविन्द्र कौर का आरोप है कि उसके पड़ोसी मोहम्मद फारूकी और उसके बेटे ईमरान और सोनू उसकी कॉलोनी पर जबरन कब्जा करना चाहते है रविवार सुबह 4 बजे पड़ोस के लोग अपने साथियों के साथ घर मे घुस आए पूरे परिवार को बेरहमी से पीटा आरोप है कि घर का कीमती सामान भी लूट लिया और सारा गृहस्थी का सामान सड़क पर फेंक दिया और घर पर ताला डाल दिया।
पीड़िता रविन्दर रविवार को ही थाना काकादेव,सीओ स्वरूपनगर,डीआईजी को घटना की जानकारी देकर मदद मांगी लेकिन कोई कार्यवाही नही हुई फिर पीड़िता ने सीएम के यहां फोन कर जानकारी दी जिसके बाद सीएम कार्यालय से फेक्स द्वारा दस्तावेज मांगें गये थाना सोमवार को सुबह सीएम कार्यालय बुलाया गया जहाँ सोमवार सुबह 9 बजे पीड़िता  पहुँच गयी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर उन्होंने घटना की जानकारी दी। सीएम ने तत्काल अपने सचिव को कार्यवाही के निर्देश दिये। सीएम कार्यालय से डीआईजी को करके कार्यवाही के लिए कहा गया।
*मुख्यमंत्री कार्यालय के फ़ोन के बावजूद पीड़िता अपने परिवार के साथ सड़क पर बैठी है अब देखना ये है कि योगी के एक्शन के बाद भी क्या मिल पायेगा पीड़िता रविन्दर को इंसाफ़ या फिर यूँ ही वो इंसाफ के लिए दर-दर भटकती रहेंगी।*
http://www.uptvlive.com/