KANPUR NEWS सऊदी में नौकरी का झांसा देकर महिला को बेचा,शेखों ने बंधक बनाकर किया दुष्कर्म।
Updated Date:09 Nov 2017 | Publish Date: 09 Nov 2017
सऊदी में नौकरी का झांसा देकर महिला को बेचा,शेखों ने बंधक बनाकर किया दुष्कर्म।

शहर की लेडी डॉन का सनसनीखेज कारनामा ग़रीब महिलाओं को बना रही निशाना, सऊदी में नौकरी का झांसा देकर शेखों को कर रही सप्लाई।

कानपुर :-शहर की रहने वाली एक शातिर महिला और उसके गुर्गे गरीब असहाय महिलाओं को अच्छी नौकरी दिलाने का झांसा देकर सऊदी अरब के शेखों को बेचने का काम कर रही है। पीड़िता ने इसकी शिकायत पुलिस के आला अफसरों समेत सूबे के मुख्यमंत्री तक से की। लेकिन शातिर लेडी डॉन के रसूख के चलते पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं कि है और जाँच के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। पीड़ित महिला ने बताया कि उसे लेडी डॉन ने दो बार नौकरी का झांसा देकर सऊदी भेजा, जहाँ पर उसे अलग-अलग शहरों में रहने वाले शेखों को तीन-तीन माह के लिए बेचा गया। शेख और उसके साथियों ने उसे बन्धक बना कर कई दिनों तक गैंगरेप किया। यही नहीं सऊदी से मिली रकम भी आरोपी हड़प गए और फिर विदेश भेजने के लिए दबाव बना रहे हैं। पीड़िता ने एसएसपी ऑफिस में शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

कानपुर सैदुल्लापुर पीएसी मोड़ श्याम नगर निवासी महिला ने बताया कि बहुत गरीब है उसने दूसरे धर्म के युवक से शादी की थी लेकिन पति शराबी था उसे रोज पीटता था, इसलिए वो अपने मायके रहने लगी और आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण वो काम खोजने लगी तभी 2014 में ग्वालटोली के एक युवक ने उसे नौकरी लगवाने का झांसा दिया और बताया कि अरब देश में महिलाओं को घरेलू काम के लिए अच्छा वेतन मिलता है उसे घरेलू काम करने के एवज में वेतन एक हजार रियाल यानी कि (लगभग 17 हजार रुपये) प्रति माह मिलेंगे। पीड़िता मान गयी। युवक ने उसे चमनगंज थाना क्षेत्र के मोहम्मद अली पार्क के पास रहने वाली अपनी बहन से मिलवाया। उस महिला ने पीड़िता से दस फोटो और उसका पहचान पत्र लेकर उसका पासपोर्ट और वीजा बनवाकर, एक अक्टूबर 2014 को महिला को घरेलू कामकाज के लिए सऊदी भेज दिया। 

*शुरुआती दिनों में सिर्फ कराया गया घरेलू काम फिर शुरू हुई दरिंदगी की दास्तान*

पीड़िता के मुताबिक वहाँ एयरपोर्ट पर पहुँचते ही शातिर महिला के दो गुर्गे मिले जो शेख के पास ले गए। पीड़िता ने कुछ दिनों तक घरेलू काम किया। उसके बाद शेख ने उसके साथ रेप करना शुरू कर दिया, जहां उसे बंधक बनाकर कई माह तक शारीरिक शोषण किया गया। आरोपी शेख ने यह भी कहा उसे ढाई लाख में खरीदा है।

नवंबर 2015 में पीडि़ता घर लौटी तो दिल्ली में दोनों भाई बहन फिर मिले। उन्होंने पीड़िता का पासपोर्ट, 12 हजार रियाल व सामान,पासपोर्ट अपने पास रख लिया और दोबारा सऊदी जाने के लिए दबाव बनाया, धमकी भी दी। मजबूरी में फिर पीड़िता मई 2016 में दोबारा सऊदी जाने को तैयार हो गयी लेकिन फिर उसे दरिंदगी का सामना करना पड़ा। चार महीने बाद माँ की बीमारी का बहाना बनाकर वह शेख के यहां से निकली। लेकिन शेख ने रकम उसे देने की बजाए शातिर महिला के खाते में डाल दी। आरोपियों से पैसे मांगे तो उन्होंने रकम देने से इनकार कर दिया और अब वे फिर सऊदी भेजने के लिए दबाव बना रहे हैं और लगातार पीड़िता को धमका रहे है।

वही इसी मामले में सीओ सीसामऊ सुरेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि महिला के आरोपों की जांच की जा रही है।